A Tribute To Ustad Nusrat Fateh Ali Khan

अ ट्रिब्यूट टु उस्ताद नुसरत फ़तेह अली खान

एल्बम वर्ग: हिन्दी, गैर फ़िल्मी
वर्ष: १९९९
कलाकार: जसपिंदर नरूला
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
 



गाने


 
अखियाँ उड़ीक दियाँ
 
गायक: जसपिंदर नरूला
शैली: पंजाबी लोक, पॉप
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
तुम्हें दिल्लगी भूल जानी पड़ेगी
 
गायक: जसपिंदर नरूला
कलाकार: जसपिंदर नरूला
शैली: फ़िल्मी, पॉप
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
ये जो हलका हलका सरूर है
 
गायक: जसपिंदर नरूला
कलाकार: जसपिंदर नरूला
शैली: फ़िल्मी, सूफ़ी/कव्वाली
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
मैं कहीं भी जाऊँ
 
गायक: जसपिंदर नरूला
कलाकार: जसपिंदर नरूला
शैली: फ़िल्मी
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
दोस्त क्या खूब
 
गायक: जसपिंदर नरूला
कलाकार: जसपिंदर नरूला
शैली: फ़िल्मी, सुगम, पॉप
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
या हय्यो या क़य्यूम
 
गायक: जसपिंदर नरूला
कलाकार: जसपिंदर नरूला
शैली: फ़िल्मी, अरबी, सूफ़ी/कव्वाली
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 

पुरस्कार


 
  • पुरस्कारों की जानकारी उपलब्ध नहीं है

सामान्य ज्ञान


 
  • सामान्य ज्ञान उपलब्ध नहीं है



प्रतिक्रिया