Asha

आशा

एल्बम वर्ग: हिन्दी, गैर फ़िल्मी
वर्ष: २००५
संगीतकार: सोहेल राना, ग़ुलाम अली, मेहदी हसन, निसार बज़मी, जगजीत सिंह
गीतकार: फ़ैयाज़ हाशमी, हसरत मोहानी, अहमद फराज़, अमीर मीनाई
कलाकार: आशा भोसले
लेबल: सारेगामा
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
एल्बम क्रेडिट: These ghazals were recreated by musician Pandit Somesh Mathur.
 
 



गाने


 
आज जाने की ज़िद ना करो
गायक: आशा भोसले
संगीतकार: सोहेल राना
गीतकार: फ़ैयाज़ हाशमी
कलाकार: आशा भोसले
शैली: ग़ज़ल, सुगम, पॉप
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
सरकती जाए है (आहिस्ता आहिस्ता)
गायक: आशा भोसले
संगीतकार: जगजीत सिंह
गीतकार: अमीर मीनाई
शैली: ग़ज़ल
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
आवारगी
गायक: आशा भोसले
संगीतकार: ग़ुलाम अली
कलाकार: आशा भोसले
शैली: ग़ज़ल, पॉप
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
दिल में एक लहर
गायक: आशा भोसले
संगीतकार: ग़ुलाम अली
कलाकार: आशा भोसले
शैली: ग़ज़ल, पॉप
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
रफ़्ता रफ़्ता
 
गायक: आशा भोसले
संगीतकार: मेहदी हसन
कलाकार: आशा भोसले
शैली: ग़ज़ल, पॉप
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
मुझे तुम नज़र से
 
गायक: आशा भोसले
संगीतकार: मेहदी हसन
कलाकार: आशा भोसले
शैली: ग़ज़ल, पॉप
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
रंजिश ही सही
गायक: आशा भोसले
संगीतकार: निसार बज़मी
गीतकार: अहमद फराज़
कलाकार: आशा भोसले
शैली: ग़ज़ल, पॉप
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
चुपके चुपके
गायक: आशा भोसले
संगीतकार: ग़ुलाम अली
गीतकार: हसरत मोहानी
कलाकार: आशा भोसले
शैली: ग़ज़ल, पॉप
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 

पुरस्कार


 
  • पुरस्कारों की जानकारी उपलब्ध नहीं है

सामान्य ज्ञान


 

    गीत

  • आज जाने की ज़िद ना करो - आशा भोसले द्वारा गाये इस ग़ज़ल की रचना सोहेल राना ने पाकिस्तानी फ़िल्म "बादल और बिजली" (१९७४) के लिए की थी. "बादल और बिजली" में इस ग़ज़ल को हबीब वली मुहम्मद ने गाया था मगर इसका सबसे लोकप्रिय वर्ज़न फ़रीदा खानम ने गाया था.[1][2]



सन्दर्भ


 

प्रतिक्रिया