Khudai Khidmatgar (Garib Ki Tope)

खुदाई ख़िदमतगार (ग़रीब की तोप)

एल्बम वर्ग: हिन्दी, फ़िल्म
वर्ष: १९३७
संगीतकार: नागरदास नायक
गीतकार: आरज़ू लखनवी, पंडित राधेश्याम
लेबल: एचएमवी रेकॉर्ड्ज़
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
फ़िल्म क्रेडिट: निर्देशक: विट्ठलदास पंचोटिया. अभिनेता: विट्ठलदास पंचोटिया, ख़लील अहमद, मज़हर खान - I, श्याम सुंदर, ए.आर. पहलवान, दर कश्मीरी, फ़िदा हुसैन, सरला देवी, राम प्यारी, अधिक...
 



गाने


 
जान नादान खेती से सारी बहार है
 
गायक: विट्टलदास पंचोटिया
संगीतकार: नागरदास नायक
गीतकार: आरज़ू लखनवी
शैली:
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
मीठी बोली फिर बोली कोयलिया
गायक: हरिमती
संगीतकार: नागरदास नायक
गीतकार: आरज़ू लखनवी
शैली: फ़िल्मी, सुगम
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
ये सुना है मैंने जादू है
गायक: फ़िदा हुसैन
संगीतकार: नागरदास नायक
गीतकार: पंडित राधेश्याम
शैली: भजन, हिन्दी लोक
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
साक़ी इधर भी जाम
गायक: माणिक माला
संगीतकार: नागरदास नायक
गीतकार: आरज़ू लखनवी
शैली: फ़िल्मी, ग़ज़ल
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
खोटी दुनिया बड़ी रंगीली
गायक: फ़िदा हुसैन
संगीतकार: नागरदास नायक
गीतकार: आरज़ू लखनवी
शैली: फ़िल्मी, सुगम
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
नहीं खतरे से खाली इश्क़ के
 
गायक: माणिक माला
संगीतकार: नागरदास नायक
गीतकार: आरज़ू लखनवी
शैली:
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
हटो री हार गई गोरी
 
संगीतकार: नागरदास नायक
गीतकार: आरज़ू लखनवी
शैली:
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
ऐसी छछंदी मैं लुगाई रे
 
संगीतकार: नागरदास नायक
गीतकार: आरज़ू लखनवी
शैली:
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
जल्द निकल इंसाफ़ के सूरज (बस्बी भर में पड़ी है हलचल)
 
गायक: नैनूराप
संगीतकार: नागरदास नायक
गीतकार: आरज़ू लखनवी
शैली:
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
कहती है इन्सानियत जितने हैं इन्साँ एक हैं
गायक: फ़िदा हुसैन, हरिमती
संगीतकार: नागरदास नायक
गीतकार: आरज़ू लखनवी
शैली: फ़िल्मी, सूफ़ी/कव्वाली
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
राखो लाज हमारी प्यारे
 
गायक: हरिमती, विट्टलदास पंचोटिया
संगीतकार: नागरदास नायक
गीतकार: आरज़ू लखनवी
शैली:
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
देखो डगर न छेंको हट जाओ
 
संगीतकार: नागरदास नायक
गीतकार: आरज़ू लखनवी
शैली:
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 

पुरस्कार


 
  • पुरस्कारों की जानकारी उपलब्ध नहीं है

सामान्य ज्ञान


 

    एल्बम

  • इस फ़िल्म में तनवीर नाम के एक गीतकार को श्रेय दिया गया था जो वास्तव में आरज़ू लखनवी थे. आरज़ू लखनवी उस समय न्यू थिएटर्ज़ के लिए काम करते थे जबकि यह फ़िल्म भारत लक्ष्मी पिक्चर्स नाम के बैनर की थी. न्यू थिएटर्ज़ के साथ उनकी कॉंट्रैक्ट का उल्लंघन न करने के लिए उन्होंने इस फ़िल्म में अपने नाम से श्रेय नहीं लिया था.[MR1]



प्रतिक्रिया