Saqi

साक़ी

एल्बम वर्ग: हिन्दी, फ़िल्म
वर्ष: १९३७
संगीतकार: सुन्दर दास
गीतकार: मुंशी जिलानी शाम
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
 



गाने


 
काटो जोश में ताबूज़ को ऐ मेरे यार जानी
 
संगीतकार: सुन्दर दास
गीतकार: मुंशी जिलानी शाम
शैली:
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
छलके छलके हर जाम में छलके
 
संगीतकार: सुन्दर दास
गीतकार: मुंशी जिलानी शाम
शैली:
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
मरदों के दिलों को ऐ री सखी अब तक मैं खिलौना समझी थी
 
संगीतकार: सुन्दर दास
गीतकार: मुंशी जिलानी शाम
शैली:
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
मयनोश रहो और जियो
 
संगीतकार: सुन्दर दास
गीतकार: मुंशी जिलानी शाम
शैली:
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
दरिया की रवानी में
 
संगीतकार: सुन्दर दास
गीतकार: मुंशी जिलानी शाम
शैली:
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
किशमिश किशमिश आ शकल दिखा दे
 
संगीतकार: सुन्दर दास
गीतकार: मुंशी जिलानी शाम
शैली:
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
सन्मुख हो जब प्रियतम प्यारा
 
संगीतकार: सुन्दर दास
गीतकार: मुंशी जिलानी शाम
शैली:
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
लो जवाँ हो जब तक पियो
 
संगीतकार: सुन्दर दास
गीतकार: मुंशी जिलानी शाम
शैली:
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
हे शक्तिमान प्रभु के समान
 
संगीतकार: सुन्दर दास
गीतकार: मुंशी जिलानी शाम
शैली:
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 

पुरस्कार


 
  • पुरस्कारों की जानकारी उपलब्ध नहीं है

सामान्य ज्ञान


 
  • सामान्य ज्ञान उपलब्ध नहीं है



प्रतिक्रिया