Shakuntala

शकुंतला

एल्बम वर्ग: हिन्दी, फ़िल्म
वर्ष: १९४३
संगीतकार: वसंत देसाई
गीतकार: दीवान शरार, रतन पिया
लेबल: यंग इंडिया रेकॉर्ड्स
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
फ़िल्म क्रेडिट: निर्देशक: वी. शांताराम. लेखक: दीवान शरार. अभिनेता: जयश्री, चंद्र मोहन - II, निम्बालकर, ज़ोहराबाई, नाना पलसीकर, शांतारिन, राजा पंडित, विद्या, अमीनाबाई, मदन मोहन - III, अधिक...
 



गाने


 
प्यारी प्यारी ये सुखद मातृभूमि अपनी
गायक: ज़ोहराबाई, परशुराम, जयश्री
संगीतकार: वसंत देसाई
गीतकार: रतन पिया
शैली:
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
एक प्रेम की प्यासी
 
गायक: अमीरबाई कर्नाटकी
संगीतकार: वसंत देसाई
गीतकार: रतन पिया
शैली:
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
तुम्हें प्रसन्न यूँ देख के
 
गायक: ज़ोहराबाई, परशुराम, जयश्री
संगीतकार: वसंत देसाई
गीतकार: रतन पिया
शैली:
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
झूलूँगी झूलूँगी जीवन भर
गायक: जयश्री
संगीतकार: वसंत देसाई
गीतकार: रतन पिया
शैली:
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
कमल है मेरे सामने
गायक: जयश्री
संगीतकार: वसंत देसाई
गीतकार: दीवान शरार
शैली:
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
चाँद सा नन्हा आए
गायक: ज़ोहराबाई, जयश्री
संगीतकार: वसंत देसाई
गीतकार: रतन पिया
शैली:
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
किसी कन्या को
 
गायक: वसंत देसाई
संगीतकार: वसंत देसाई
गीतकार: दीवान शरार
शैली:
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
मेरे बाबा ने बात मेरी
गायक: जयश्री
संगीतकार: वसंत देसाई
गीतकार: रतन पिया
शैली:
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
मेरे बिरह की रैन
संगीतकार: वसंत देसाई
शैली:
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
जीवन की नाव ना डोले
गायक: जयश्री
संगीतकार: वसंत देसाई
गीतकार: दीवान शरार
शैली:
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
सुख भरा करे जीवन
 
गायक: अमीरबाई कर्नाटकी
संगीतकार: वसंत देसाई
गीतकार: रतन पिया
शैली:
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
न जाने कहाँ का ये जादू
 
संगीतकार: वसंत देसाई
शैली:
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 
ब्याह रचाए चुप चुप
 
गायक: ज़ोहराबाई
संगीतकार: वसंत देसाई
गीतकार: दीवान शरार
शैली:
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
 

पुरस्कार


 
  • पुरस्कारों की जानकारी उपलब्ध नहीं है

सामान्य ज्ञान


 

    एल्बम

  • इस फ़िल्म के साथ वसंत देसाई की राजकमल बैनर और निर्माता, निर्देशक वी. शांताराम के साथ एक लम्बी और सफल साझेदारी शुरू हुई थी.[MR6]
  • १९४२ में वी. शांताराम ने प्रभात स्टूडियोज़ छोड़ कर ख़ुद की फ़िल्म निर्माण कम्पनी शुरू की थी जिसका नाम था राजकमल कलामंदिर. यह उनके नए बैनर की पहली फ़िल्म थी.



प्रतिक्रिया