Pila Raha Hai To Kuchh Lutf-E-May Badha Ke Pila

पिला रहा है तो कुछ लुत्फ़-ए-मय बढ़ा-

- के पिला

गायक: अकबर खान पेशावरी
संगीतकार: के.सी. दे
गीतकार: माइल लखनवी
शैली: सूफ़ी/कव्वाली
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
एल्बम: मिलाप
वर्ष: १९३७
एल्बम वर्ग: हिन्दी, फ़िल्म


विडियो


 




पुरस्कार


 
  • पुरस्कारों की जानकारी उपलब्ध नहीं है

सामान्य ज्ञान


 
  • सामान्य ज्ञान उपलब्ध नहीं है


इस तरह के गाने

 
Chale Kyon Mori Naiya Kinare Kinare (Ummeeden Ahl-E-Kashti Nakhuda Ke Hai Ishare Par) चले क्यों मोरी नैया किनारे किनारे (उम्मीदे अहले कश्ती नाखुदा के है इशारे पर)
 
एल्बम: हिज़ हाइनेस
गायक: बशीर क़व्वाल
संगीतकार: शंकर राव व्यास, लल्लूभाई नायक
गीतकार: पंडित अनुज
शैली: सूफ़ी/कव्वाली
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
एल्बम वर्ग: हिन्दी, फ़िल्म
 
Lo Suno Mere Dard Bhare Naale (Kya Sunaoon Majra-E-Dard-E-Dil) लो सुनो मेरे दर्द भरे नाले (क्या सुनाऊँ माजरा-ए-दर्द-ए-दिल)
 
एल्बम: चैलेंज
गायक: बशीर क़व्वाल
संगीतकार: लल्लूभाई नायक
गीतकार: सम्पत लाल श्रीवास्तव 'अनुज'
शैली: फ़िल्मी, सूफ़ी/कव्वाली
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
एल्बम वर्ग: हिन्दी, फ़िल्म
 
Tum Jo Roothe To Dushman Zamana Hua (Usne Kaha Tu Kaun Hai) तुम जो रूठे तो दुश्मन ज़माना हुआ (उसने कहा तू कौन है)
 
एल्बम: हरीकेन हन्सा
गायक: अहमद दिलावर
संगीतकार: मास्टर मोहम्मद
शैली: सूफ़ी/कव्वाली
सम्पूर्ण रेटिंग:
मेरी रेटिंग:
एल्बम वर्ग: हिन्दी, फ़िल्म
 


प्रतिक्रिया